छोड़कर सामग्री पर जाएँ

भूगोल किसे कहते है? | Geography in Hindi

geography in hindi

geography in hindi

भूगोल किसे कहते है. – Geography in Hindi

Giography को हिन्दी में भूगोल कहा जाता है. जिसे आसान भाषा में पृथ्वी का वर्णन भी कहा जाता है. एच. एफ. टॉजर ने भूभाग को सागरों से घिरा हुआ माना था और दो महादेशों का ज्ञान दिया था. इसीलिए एच. एफ. टॉजर को Geography का पिता (father of geography) माना जाता है.

अगर आप जियोग्राफी के स्टूडेंट है और आप भारत की जियोग्राफी Indian Geography in Hindi और विश्व की जियोग्राफी Giography के बारे में सब कुछ जानना चाहते हो, तो यह लेख हमने खास कर आपके लिए ही लिखा है. यह लेख में हमने जियोग्राफी के बारे में सबकुछ विस्तार पूर्वक समझाया है.

हमारा विश्वास है की, यह लेख को शुरू से अंत तक पढ़ने से आपके जो भी प्रश्न होंगे वह हल हो जायेंगे…

भारतीय जियोग्राफी – Indian Geography in Hindi

भारत एक विविधता पूर्ण देश है. जहा आपको अलग अलग धर्म के लोग देखने मिलते है. भारत की संस्कृति, सभ्यता और भूगोल हर हर १०० किलोमीटर पर बदलती रहती है. 32,87,263 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ भारत की सीमाएं पाकिस्तान, अफगानिस्तान, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, म्यांमार और तिब्बत जैसे देशों से लगती है.

वस्ती के आधार पर भारत का दुनिया में दूसरा स्थान है जब की, विस्तार के आधार पर भारत का सातवां स्थान आता है. २०११ के वस्ती गणतरी के अनुसार भारत में ११५ करोड़ वस्ती थी. जो आज के समय में अंदाजन ११५ करोड़ से बढ़कर १३५ करोड़ हो गई है.

भारत देश के सम्पूर्ण भौगोलिय स्थिति के बात करे तो 10.5 प्रतिशत क्षेत्रफल पर्वतीय भाग, 18.6 प्रतिशत क्षेत्रफल पहाड़ियाँ, 27.7 प्रतिशत पथराव भाग और 43 प्रतिशत क्षेत्रफल भाग मैदानी है. भारत के उतर में देखे तो हिमालय की पर्वत श्रुखला पूर्व में राजस्थान के मैदानी भाग, पश्चिम में बंगाल की खाड़ी और दक्षिण में हिंद महासागर है.

• वृहत् हिमालय- प्रमुख चौटियाँ- गौरी शंकर (माउंट एवरेस्ट), कंचनजंघा तथा नंदादेवी.
• लघु हिमालय- प्रमुख श्रेणियाँ- पीर पंजाल व धौलाधर.
• उप हिमालय- जम्मू, गिरी, मिसमी, डाफला पहाड़ियाँ आदि.

विश्व की जियोग्राफी – World Geography in Hindi

जियोग्राफी स्थानों और लोगों और उनके वातावरण के बीच संबंधों का अध्ययन है. जियोग्राफी पृथ्वी की सतह के भौतिक गुणो और इसके चारो ओर फैले मानव समाजों दोनों का पता लगाते है.

उसमे आप यह भी पता लगा सकते है कि, मानव संस्कृति प्राकृतिक पर्यावरण के साथ कैसे संपर्क करती है और जिस तरह से स्थान और स्थान लोगों पर प्रभाव डाल सकते है. जियोग्राफी यह समझने की कोशिश करता है कि चीजें कहाँ पाई जाती है, वे वहाँ क्यों है और समय के साथ वे कैसे विकसित और बदलती है.

जियोग्राफी विषय को दो मुख्य क्षेत्रों में विभाजित करता है. भौतिक भूगोल और मानव भूगोल. ये दो मुख्य क्षेत्र समान है क्योंकि वे दोनों एक स्थानिक परिप्रेक्ष्य का उपयोग करते है, और इन दोनों में स्थान का अध्ययन और एक स्थान की दूसरे के साथ तुलना शामिल है.

जियोग्राफी geography भूगोल प्राकृतिक घटनाओं का स्थानिक अध्ययन है जो मुख्य पर्यावरण को बनाते है. जैसे कि नदियाँ, पहाड़, भू-आकृतियाँ, मौसम, जलवायु, मिट्टी, पौधे और पृथ्वी की सतह के नीचे की स्थिति है. भौतिक भूगोल पर पृथ्वी विज्ञान के एक रूप के रूप में केंद्रित है.

Father of Geography in Hindi :- एच. एफ. टॉजर

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *