छोड़कर सामग्री पर जाएँ

5 Best Simple technics to write application or Letter in hindi | How to write application or Letter in hindi

Application जिसे हम सभी लोग आवेदन के नाम से भी जानते है. आवेदन का इस्तेमाल अपनी बातो और समस्याओं को बेहद ही आसान भाषा में दूसरो तक पहुंचाने का एक सरल माध्यम है. Application जिसका इस्तेमाल स्कूल में पढ़ने वाला बच्चा हो या किसी संस्थान में काम करने वाला कर्मचारी सभी करते है. छुट्टी लेनी हो या किसी तरह की जानकारियां प्राप्त करनी हो सभी में आवेदन का इस्तेमाल तो होता ही है.

सामान्य रूप से आवेदन दो तरह के आते है. एक होता है औपचारिक आवेदन पत्र और दूसरा होता है अनौपचारिक आवेदन पत्र. जिसे अंग्रेजी में लोग Formal Letter और Informal Letter कहते है. किसी भी तरह के आवेदन पत्र लिखने से पहले औपचारिक और अनौपचारिक पत्र में क्या अंतर होता है यह जान लेना बहुत ही आवश्यक होता है.

दोस्तो आइए जानते है, इस लेख में Application in hindi कैसे लिखते है और Formal Letter और Informal Letter में क्या अंतर होता है.

औपचारिक पत्र (Formal Letter) :

औपचारिक पत्र यह एक ऐसे पत्र होते है जिसका इस्तेमाल लोग आधिकारिक तौर पर करते है. दूसरे शब्दों में कहेंतो औपचारिक पत्र उन्हें लिखे जाते है जिनसे हमारा कोई निजी संबंध नहीं होता. जैसे की, किसी संस्थान में बॉस को सूचना देना हो या स्कूल में अपने शिक्षक को और प्रिंसिपल को कोच सूचित करना हो या फिर छुट्टी (leave Application in Hindi) मांगना हो.

औपचारिक पत्र का इस्तेमाल कॉलेज में अपने प्रधानप्रध्यापक को सूचना देने के लिए या इससे मिलते-जुलते कार्यों के लिए होता है. औपचारिक पत्र की भाषा बहुत ही सहज और शिष्ठापूर्ण होती है. इसमें किसी भी तरह की लिखावट गलती नही चलती. ईसकी लिखावट और लेखन के तरीको के कारण और पत्र से काफी अलग होते है. औपचारिक पत्र को जल्द ही स्वीकार कर लिया जाता है क्योंकि, इसे लिखने के लिए नीचे लिखे हुए सारे नियमों का ख्याल रखना पड़ता है.

औपचारिक पत्र पैटर्न (Formal Letter Format)

१. यह पत्र पेज के बायीं तरफ से शुरू होता है.
२. इसमें पहले आप जिन्हें पत्र लिख रहे हैं उनका पद, फिर उनका नाम उसके बाद जगह लिखते है.
३. इसके बाद एक लाइन छोड़ कर आप दिनांक डालते है.
४. उसके बाद आप एक लाइन छोड़ कर विषय लिखते है.
५. विषय लिखने के बाद एक लाइन छोड़ते है, फिर जिसे पत्र लिख रहे हैं उन्हें महोदय/ महोदया से सम्बोधित करते है.
६. उसके बाद आप अपना पत्र लिखना शुरू करते हैं, और सिर्फ ज़रूरी बातें लिखते हैं जैसेकी, छुट्टी चाहिए तो, छुट्टी लेने का कारण, कब से कब तक छुट्टी चाहिए, और उनसे प्रार्थना करना की वे उनकी अर्ज़ी स्वीकार कर लें.
७. अंत में आप उनका आभार प्रकट करते है, और अपनी सारी महत्व्पूर्ण जानकारियां लिखते है, जैसे आपका नाम, रोल नंबर आदि.

औपचारिक पत्र Formal Letter आप चाहे हिन्दी में लिखे या अंग्रेजी में ऊपर दी हुई फॉर्मेट के अनुसार ही लिखा जाता है.

अनौपचारिक पत्र (Informal Letter) :

अनौपचारिक पत्र यह वैसे पत्र है जिसका इस्तेमाल अपने रिश्तेदारों, चाहनेवालो या फिर अपने दोस्तो से बातचीत करने लिए होता है. दूसरे शब्दों में कहें तो यह पत्र उन्हे लिखे जाते है जिनसे हमारा कोई निजी संबंध होता है. अनौपचारिक पत्र Informal Letter को लिखने का कोई भी फॉर्मेट या मापदंड नहीं होता. अनौपचारिक पत्र को हम किसी भी भाषा में और किसी भी तरह से लिख सकते है.

इसीलिए अनौपचारिक पत्र का इस्तेमाल स्कूल, कॉलेज, और सरकारी दफ्तरों में नही होता. यह पत्र आप आपने निजी कार्य के लिए कर सकते है. अनौपचारिक पत्र को दूसरे Informal Letter के नाम से जाना जाता है. Formal Letter और Informal Letter में यह अंतर होता है.

कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बाते जो आवेदन Application लिखते समय नजरंदाज करना बहुत बड़ी गलती है.

अनौपचारिक पत्र या औपचारिक पत्र आप किसी भी भाषा में लिखे, पर निचे दिए गए उन बातों का जरूर ख्याल रखना चाहिए. अक्सर लोग जल्दबाजी के चक्कर में भूल जाते है.

१. Application लिखने के लिए सफेद रंग का साफसुतरा और बिना लाइनों वाला कागज इस्तेमाल करे.

२. कंप्यूटर अथवा मोबाइल से आवेदन लिखते समय एक ही फॉन्ट स्टाइल और साइज का इस्तेमाल करे.

३. कागज के बाएं तरफ से थोड़ा मार्जिन छोड़कर ही Application लिखना शुरू करे.

४. अभिवादन लिखते समय पुल्लिंग नाम के आगे श्रीमान और स्त्रीलिंग नाम के आगे श्रीमती लिखे.

५. आवेदन लिखते समय शीर्षक और महत्वपूर्ण बातो को बोल्ड करना जरूरी होता है.

६. आवेदन में ऐसी भाषा का इस्तेमाल करे जिसे सामने वाले व्यक्ति को पढ़ने और समझने में आसानी रहे.

७. अगर आप बैंक के लिए आवेदन लिख रहे हो, तब सही एवं सटीक खाता विवरण के साथ अपने हस्ताक्षर बैंक रिकॉर्ड के अनुसार करना न भूले.

application or letter write Example

application or letter write

Example of formal Letter and Informal Letter :
औपचारिक पत्र और अनौपचारिक पत्र के उदाहरण :

औपचारिक पत्र

सेवा में
श्रीमान प्रिंसिपल महोदय
(स्कूल का नाम)
(जगह का नाम)

दिनांक – XX महीना XXXX

विषय :- बुखार होने पर अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय ,
सविनय निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की कक्षा 8 (apni kaksha ka naam) की/का छात्रा/छात्र हूँ. और मैं पिछले 2 दिनों से तेज़ बुखार से पीड़ित हूँ. डॉ द्वारा परामर्श लेने पर उन्होंने आराम करने को कहा है और मैं भी अधिक अस्वस्थ महसूस कर रहा हूँ. जिस वजह से मैं दिनांक xx/xx/xxxx से xx/xx/xxxx तक विद्यालय में आने में असमर्थ है. अतः आपसे विनम्र निवेदन है की आप मेरी दो दिनों की छुट्टी स्वीकार करे. इसके लिए मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी.

आपकी आज्ञाकारी
नाम – आपका नाम
कक्षा –
अनुक्रमांक –

अनौपचारिक पत्र

विजय नगर, सेक्टर – 12, (पत्र भेजने का पता)
इंद्रा कॉलोनी, दिल्ली

दिनांक – XX महीना XXXX (पत्र भजने की दिनांक)

प्रिय xxxx

अभिवादन

तुम्हारा पत्र मिला तुमने इस वार्षिक परीक्षा में जो अंक प्राप्त किए हैं वह काबिले तारीफ है. अब वार्षिक परीक्षा निकट आ रही है. तुम्हे और भी अच्छी पढ़ाई करके और भी अच्छे अंक लाने है.

( पत्र समापन) तुम्हारा xx

(पत्र भेजने वाले का नाम) xxxx


Ishan Kishan Biography In Hindi : Click Here

Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Konsi He? : Click Here

Mukesh Mills Mumbai Haunted Story In Hindi : Click Here

BharatvarshGyan website All Posts: Click Here

More

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *